Showing posts with label Bewafa sayari in hindi. Show all posts
Showing posts with label Bewafa sayari in hindi. Show all posts

उम्रें बीत जाती हैं दिल का रिश्ता बनाने

ज़रा सी बात पे ना छोड़ना किसी का दामन
उम्रें बीत जाती हैं दिल का रिश्ता बनाने में ….

मुझसे ‘नफरत’ तभी करना
जब आप मेरे बारे मे ‘सबकुछ’ जानते हो
तब नहीं जब किसी से ‘कुछ’ सुना हो ।

°
°
°

मैं कई अपनों से वाक़िफ़ हूँ
जो पत्थर के बने हैं !!!

बस पहले जहां दिल होता था अब वहां दर्द होता

तेरे जाने से कुछ नही बदला,
बस पहले जहां दिल होता था,
अब वहां दर्द होता ह  |

सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल ही पूँछ लिया करो

सुकून ऐ दिल के लिए कभी,
हाल ही पूँछ लिया करो…|
मालूम तो हमें भी है कि हम,
आपके अब कुछ नहीं लगते ...|

चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने

प्यार में वो हम को बेपनाह कर गये,
फिर ज़िनदगीं में हम को तन्नहा कर गये,
चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की,
पर वो लौट कर आने को,भी मना कर गये..

हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंग

कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे |
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए,
हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे| |

किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो

वादा-ए-वफ़ा करो तो
फिर खुद को फ़ना करो |
वरना खुदा के लिए
किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो |

है बद्दुवा मेरी की तुम को भी प्यार होज

मौसम मे जुदाई के गर तेरा दीदार हो जाये ,
तो मेरा दिल भी सनम तेरा कर्जदार हो जाये ।
तुम जो छोङ कर गये हो हमको तन्हा,ं
है बद्दुवा मेरी की तुम को भी प्यार होजाये ॥

मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांग

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी

एक दिन ऐसा आएगा राजा मै होऊँगा और मुजरे_वाली तू होगी

एक दिन ऐसा आएगा सल्तनत भी मेरी होगी
और ‪हुकूमत‬ भी मेरी होगी
बस फर्क सिर्फ इतना होगा
कि वहाँराजा मै होऊँगा
और मुजरे_वाली तू होगी.

हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं.

ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं.

उसे मुड़ मुड़ के क्या देखन जिसको प्यार की कदर ना हो

छोड़ दिया हमने उसका दीदार करना
हमेशा के लिए…
जिसको प्यार की कदर ना हो
उसे मुड़ मुड़ के क्या देखना…..!!

किसी ने बहुत कोशिश की है मुझे इस हाल तक पहुँचाने में…

मेरा यूँ टुटना
और टूटकर बिखर जाना
कोई इत्फाक नहीं,
किसी ने बहुत कोशिश की है
मुझे इस हाल तक पहुँचाने में…

उसी शख़्स नें हमें रुलाया बहुत

तक़दीर ने हमें आज़माया बहुत
हमने उसे मनाया बहुत
जिसकी ज़िंदगी ख़ुशियों से सजा दी
उसी शख़्स नें हमें रुलाया बहुत

समदर के बीच मै पहुचॅ कर फरेब किया उसन

पल पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पर दुनिया छोड जाते हम
समदर के बीच मै पहुचॅ कर फरेब किया उसने
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

उसी शख़्स नें हमें रुलाया बहुत

तक़दीर ने हमें आज़माया बहुत
हमने उसे मनाया बहुत
जिसकी ज़िंदगी ख़ुशियों से सजा दी
उसी शख़्स नें हमें रुलाया बहुत