Showing posts with label yaade. Show all posts
Showing posts with label yaade. Show all posts

Jin Palo Me Hanse The, Unhe Yaad Karke Rona Aata Hai

Bahot Ajib Hoti Hai
Ye Yaade Bhi Mohabbat Ki,
Jin Palo Me,Hum Roye The,
Unhein Yaad Karke Hume
Hansi Aati Hai,
Or Jin Palo Me Hanse The,
Unhe Yaad Karke
Rona Aata Hai..!!

Teri Prachhai Mujhe Wapis Bula Lati Hai.

Beithe Beithe Sirf Tu he
Yaad Aati Hai,

Aankhaon Mein Yun
Nami Chha Jati Hai,

Kahena Chahon jo
Kisi Aur Se Apna Dard,

Teri Prachhai Mujhe
Wapis Bula Lati Hai.

Ziya khalil-um-mazhar

Tumhare Hi Paas Hai Hum, Jab Chaahe Dekh Lena Apni Parchai Mein

Akela Sa Mehsus Karo Jab Tanhai Mein,
Yaad Hamari Aaye Jab Judaai Mein,
Mehsoos Karna Tumhare Hi Paas Hai Hum,
Jab Chaahe Dekh Lena Apni Parchai Mein |

यादें/दर्द

जब से तेरी चाहत अपनी ज़िन्दगी बना ली है!
हम ने उदास रहने की आदत बना ली है!
हर दिन हर रात गुजरती हैतेरी याद में!
तेरी याद हमने अपनी इबादत बना ली है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद में तेरी आँहें भरता है कोई!
हर साँस के साथ तुझे यादकरता है कोई!
मौत तो सचाई है आनी है!
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज मरता है कोई!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

भुला देना उसे जो रुला जाये!
याद रखना उसे जो निभा जाये!
वादा आपसे करेंगे बहुत लोग!
मगर दिल की बात कहना उससे
जिसके बिना एक पल नरहा जाये!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अपनी यादों में हम तुम्हें बसाना चाहते है!
अपने पास तुम्हें हम बुलाना चाहते है!
थक गए हम तुम्हें याद करते करते!
अब हम तुम्हें याद आना चाहते है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दिल से तेरी याद को जुदातो नहीं किया!
रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया!
हम से लोग हैं नाराज़ किस लिये!
हमने कभी किसी को खफा तोनहीं किया!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उस अजनबी का यूँ न इंतज़ार करो!
इस आशिक दिल का न ऐतबार करो!
रोज़ निकला करें किसी के याद में आंसू!
इतना न कभी किसी से प्यार करो!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दिल तेरी याद में आहें भरता है!
मिलने को पल पल तड़पता है!
मेरा यह सपना टूट न जायेकहीं!
बस इसी बात से दिल डरता है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

रात हुई जब शाम के बाद!
तेरी याद आई हर बात के बाद!
हमने खामोश रहकर भी देखा!
तेरी आवाज़ आई हर सांस केबाद!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दिल जब टूटता है तो आवाजनहीं आती!
हर किसी को मुहब्बत रास नहीं आती!
ये तो अपने-अपने नसीब कीबात है!
कोई भूलता नहीं और किसी को याद भी नहीं आती!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद किसी को करना ये बातनहीं जताने की!
दिल पे चोट देना आदत है ज़माने की!
हम आपको बिल्कुल नहीं याद करते!
क्योकि याद किसी को करना निशानी है भूल जाने की!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जीना चाहते हैं मगर ज़िन्दगी रास नहीं आती!
मरना चाहते हैं मगर मौत पास नहीं आती!
बहुत उदास हैं हम इस ज़िन्दगी से!
उनकी यादें भी तो तड़पाने से बाज़ नहीं आती!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

न वो आ सके न हम कभी जा सके!
न दर्द दिल का किसी को सुना सके!
बस बैठे है यादों में उनकी!
न उन्होंने याद किया और न हम उनको भुला सके!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बड़ी कोशिश के बाद उन्हें भूला दिया!
उनकी यादों को दिल से मिटा दिया!
एक दिन फिर उनका पैगाम आया लिखा था मुझे भूल जाओ!
और मुझे भूला हुआ हर लम्हा याद दिला दिया!
यादेंकभी किसी सपने को दिल सेलगाया करो!
किसी के ख्वाबों में आया-जाया करो!
जब भी जी हो कि कोई तुम्हें भी मनाये!
बस हमें याद करके रूठ जाया करो!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा!
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा!
न जाने क्या बात थी उन मे और हम मे!
सारी महफिल भूल गए बस वही एक चेहरा याद रहा!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आज यह कैसी उदासी छाई है!
तन्हाई के बादल से भीगी जुदाई है!
रोया है फिर मेरा दिल!
जाने आज किसकी याद आई है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

फूल खिलते हैं खिल कर बिखर जाते है!
फूल खिलते हैं खिल कर बिखर जाते हैं!
यादे तो दिल में रहती है
दोस्त मिल कर बिछड़ जाते है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ये याद है आपकी या यादोंमें आप हो?
ये ख्वाब है आपके या ख्वाबों में आप हो?
हम नहीं जानते बस इतना बता दो!
हम जान है आपकी या जान हमारी आप हो?
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दूर है आपसे तो कुछ गम नहीं!
दूर रह कर भूलने वाले हमनहीं!
रोज़ मुलाक़ात न हो तो क्या हुआ!
आपकी याद आपकी मुलाक़ात से कम नहीं!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

समझा दो अपनी यादों को!
वो बिना बुलाये पास आया करती है!
आप तो दूर रहकर सताते होमगर!
वो पास आकर रुलाया करती है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दुनिया में कोई किसी के लिए कुछ नहीं करता;मरने वाले के साथ हर कोईनहीं मरता;
अरे…मरने की बात तो दूररही;
यहाँ तो जिंदगी है फिर भी कोई याद नहीं करता;
वेलेंटाइन डे की शुभकामनाए!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादों में हम रहें ये एहसास रखना;
नज़रों से दूर सही दिल केपास रखना;
ये नहीं कहते कि साथ रहोदूर सही पर याद रखना!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

करोगे याद गुजरे जमाने को,
तरसोगे हमारे साथ एक पल बिताने को,
फिर आवाज़ दोगे हमे वापिस बुलाने को,
और हम कहेंगे दरवाजा नहीं है कबर से बाहर आनेको!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर पल ने कहा एक पल से,
पल भर के लिये आप मेरे सामने आ जाओ...
पल भर का साथ कुछ ऐसा हो...
कि हर पल तुम ही याद आओ!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

किसी ने हमसे पूछा कि वादों और यादो में क्या फर्क होता है?
हमने बस इतना ही कहा कि `वादों को तो इंसान तोड़ देता है` पर `यादे इंसान को तोड़ देती है`!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त;
वरना तुझ को याद करने कीखता हम बार-बार न करते!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादे अजीब होती हैं;
बता के नहीं आती और रुलाकर भी नहीं जाती!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

किसी की यादों ने हमने तनहा कर दिया;
वरना हम अपने आप में किसी महफ़िल से काम न थे!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरी आँखों में हमे जाने क्या नज़र आया!
तेरी यादों का दिल पर सरुर है छाया!
अब हमने चाँद को देखना छोड़ दिया!
और तेरी तस्वीर को दिल में छुपा लिया!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

गर्दिश में सितारे होतें हैं!
सब दूर किनारे होतें हैं!
यूँ देख के यादों की लहरें!
हम बैठ किनारे रोते हैं!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कहानी बन के जियें हैं; वो दिल के आशियानों में!हमको भी लगेगी सदियाँ; उन्हें भुलाने में!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ज़िक्र उनका ही आता है मेरे फ़साने में;
जिनको जान से ज्यदा चाहते थे हम किसी ज़माने में!
तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला;
जिनको नाकाम रहे हम भुलानें में!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बचपन की वो अमीरी न जानेकहाँ खो गयी;
जब बारिश के पानी में, हमारे भी जहाज तैरा करते थे!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

पलकों से आँखों की हिफाजत होती है;दिल तो धड़कन की अमानत होती है!
ये यादो का रिश्ता भी बड़ा अजीब है;
करो तो तकलीफ और न करो तो शिकायत होती है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मेरे इश्क ने सीख ली है अब वक़्त की तकसीम...
वो मुझे बहुत कम याद आताहै;
सिर्फ इतना...दिल की हर एक धड़कन के साथ!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

किसी को क्या हासिल होगा मुझे याद करने से,
दोस्तो...मैं तो एक आम इंसान हूँ;
और यहाँ तो, हर किसी को ख़ास की तलाश है!

जाने उस शक्स को कैसा येहुनर आता है;
रात होती है तो आँख में उतर आता है;
मैं उसके ख्याल से निकलूं तो कहाँ जाऊं;
वो मेरी सोच के हर रास्ते पर नज़र आता है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बड़ी तब्दीलियाँ लायें हैं अपने आप में लेकिन;
तुम्हे बस याद करने की, वो आदत अभी बाकी है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अब उदास होना भी अच्छा लगता है!
किसी का पास न होना भी अच्छा लगता है!
मैं दूर रह कर भी किसी की यादों में हूँ!
ये एहसास होना भी अच्छा लगता है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उनसे दूर जाने का इरादा तो न था;
सदा-साथ रहने का भी वादातो न था;
वो याद आयेगा, ये जानते थे हम;
पर इतना याद आयेगा, अंदाज़ा तो न था!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

छोड़ दिया हमारा साथ कोई गम नहीं;
भूल जायेंगे आप हमें, परभूलने वाले हम नहीं;
आप से मुलाक़ात ना हो पाई तो कोई बात नहीं;
आपकी एक याद मुलाकात से कम नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा;
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;
न जाने क्या बात थी उनमें और हम में;
सारी महफिल भूल गए बस वही एक चेहरा याद रहा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादों की कीमत वो क्या जाने;जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बन के अजनबी मिले थे जिन्दगी के सफर में;
इन यादों के लम्हों को मिटायेंगे नहीं;
अगर याद रखना फितरत है आपकी;
तो वादा है हम भी आपको कभी भुलायेंगे नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

भूलना मेरी आदत नहीं,
यादाश्त चली जाये तो और बात है;
आपकी याद आती है, हर सांस के साथ;
अगर मेरी सांस ही टूट जाये तो और बात है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यह आरजू नहीं कि किसी कोभुलाएं हम;
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम;जिसको जितना याद करते हैं;
उसे भी उतना याद आयें हम!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरे लिए खुद को मजबूर कर लिया;
ज़ख्मो को अपने नासूर कर लिया;
मेरे दिल में क्या था येजाने बिना;
तुने खुद को हमसे कितना दूर कर लिया!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आदतन तुमने कर दिये वादे,
आदतन हमनेँ भी ऐतबार किया;
तेरी राहोँ मेँ हर बार रुककर,
हमनेँ अपना ही इंतजार किया!
~ गुलजारं
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर यादों में उनकी याद रहती है;
मेरी आँखों को उनकी तलाश रहती है;
दुवा करो वो मुझको मिल जाए यारो;
सुना है दोस्तों की दुआ में फरिश्तों की आवाज़ होती है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जब महफ़िल में भी तन्हाई पास हो;
रोशनी में भी अँधेरे का एहसास हो;
तब किसी खास की याद में मुस्कुरा दो;
शायद वो भी आपके इंतजार में उदास हो!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कुछ यादगार-ए-शहर-ए-सितमगर ही ले चलें;
आये हैं तो फिर गली में से पत्थर ही ले चलें;
रंज-ए-सफ़र की कोई निशानी तो पास हो;
थोड़ी-सी ख़ाक-ए-कूचा-ए-दिलबर ही ले चलें!
~Firaq Gorakhpuri
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बनकर अजनबी मिले थे जिन्दगी के सफर में;
इन यादों के लम्हों को मिटायेंगे नही;
अगर याद रखना फितरत है आपकी;
तो वादा है हम भी आपको कभी भुलायेंगे नही।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कितने चेहरे हैं इस दुनिया में;
मगर हमको एक चेहरा ही नाज़ार आता है;
दुनिया को हम क्या देखें;
उसकी यादों में सारा वक़्त गुजर जाता है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उसकी बातें बार बार याद करके रोई;
उसके लिए रब से फ़रियाद करके रोई;
उसकी ख़ुशी के लिए छोड़ दिया उसे;
फिर उसी की कमी का एहसासकरके रोई।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएगें जरूर;
प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे जरूर;
राह में कितने भी कांटे क्यों न हो;
आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आयेंगे जरूर।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कौन कहता है उसके बिना मैं मर जाऊंगा;
दरिया हूँ सागर में उतर जाऊंगा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अगर जिंदगी में जुदाई ना होती;
तो कभी किसी की याद आई ना होती;
साथ ही गुजरता हर लम्हा तो शायद;
रिश्तों में इतनी गहराईना होती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~
रात की खामोशी रास नहीं आती;
मेरी परछाईं भी अब मेरे पास नहीं आती;
कुछ आती भी है तो बस तेरी याद;
जो आकर भी एक पल भी मुझसे दूर नहीं जाती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~
शाम होते ही चिरागों को बुझा देता हूँ;
ये दिल ही काफी है तेरी याद में जलने के लिए।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कस्तियाँ रह जाती हैं तूफान चले जाते हैं;
याद रह जाती है इंसान चले जाते हैं;
प्यार कम नहीं होता किसी के दूर जाने से;
बस दर्द होता है उनकी याद आने से।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी;
वरना हमको कहां तुम से शिकायत होगी;
ये तो बेवफ़ा लोगों की दुनिया है;
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अगर यूँही ये दिल सताता रहेगा;
तो इक दिन मेरा जी ही जाता रहेगा;
मैं जाता हूँ दिल को तेरे पास छोड़े;
ये मेरी याद तुझको दिलाता रहेगा!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

काश वो एक नया तरीका मेरे क़त्ल का इज़ाद करें;
मर जाऊ मैं हिचकियों से वो इस कदर मुझे याद करें!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा;
मैं खुद तन्हा रहा मगर दिल को तन्हा नहीं रखा;
तुम्हारी चाहतों के फूलतो महफूज़ रखे हैं;
तुम्हारी नफरतों की पीड़ को ज़िंदा नहीं रखा!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

वो रूठे इस कदर की मनायाना गया;
दूर इतने हो गए कि पास बुलाया ना गया;
दिल तो दिल था कोई समंदरका साहिल नहीं;
लिख दिया था जो नाम वो फिर मिटाया ना गया!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अपने दिल की सुन अफवाहों से काम ना ले;
मुझे दिल में रख बेशक मेरा नाम ना ले;
ये वहम है तेरा कि तुझे भूल जायेंगे हम;
मेरी कोई ऐसी साँस नहीं जो तेरा नाम ना ले!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कौन कहता है तेरी याद सेबेख़बर हूँ मैं;
ज़रा बिस्तर की सिलवटो से पूँछ,
मेरी रात कैसे गुजरती है?
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

न तस्वीर है आपकी जो दीदार किया जाए;
न आप पास हैं जो बात की जाए;
ये कौन सा एहसास दिया हैआपने;
न कुछ कहा जाए, न रहा जाए!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यूँ तो कई बार भीगे बारिश में;
मगर ख्यालों का आँगन सूखा ही रहा;
जब आँखों की दीवारें गीली हुई उसकी यादो से;
तब ही जाना हम ने बारिश क्या होती है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए;
जब भी तेरी याद सी आई तुझे भुला के रोए;
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा;
जितना लिख के खुश हुए उससे ज्यादा मिटा के रोए!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मौत के बाद भी याद आ रहा है कोई;
दिल के दर्द दिल से ले जा रहा हैं कोई;
ऐ खुदा दो दिन की मोहलत दे दे मुझे;
मेरी याद में उदास जा रहा है कोई।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यह कौन राह दिखाकर चला गया मुझको;
मैं जिंदगी में भला किसके काम आया था।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दिल तड़पता रहा और वो जाने लगे;
संग गुज़रे हर लम्हें याद आने लगे;
खामोश नज़रों से देखा जो उसने मुड कर;
भीगी पलकों से हम भी मुस्कराने लगे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

वो दिन दिन नही..वो रात रात नही;
वो पल पल नही जिस पल आपकी बात नही;
आपकी यादों से मौत हमे अलग कर सके;
मौत की भी इतनी भी औकात नही।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

छोड़ दिया हमारा साथ कोई गम नहीं;
भूल जायेंगे आप हमें, परभूलने वाले हम नहीं;
आप से मुलाक़ात ना हो पाईतो कोई बात नहीं;
आपकी एक याद मुलाकात से कम नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सांस थम जाती हैं, पर जान नहीं जाती;
दर्द होता है, पर आवाज नहीं आती;
अजीब लोग हैं इस जमाने में;
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

गुज़रे हैं तेरे बाद भी कुछ लोग इधर से;
लेकिन तेरी खुशबू न गई राह गुज़र से।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यहीं पर सारे चमन की बहार थी कल तक;
पड़ी है आज जहाँ ख़ाक आशियाने की।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादों की किम्मत वो क्या जा;
जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सारी उम्र आंखो मे एक सपना याद रहा;
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;
ना जाने क्या बात थी उनमे और हममे;
सारी महफ़िल भुल गये बस वह चेहरा याद रहा!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

​उम्र की राह में ​रा​स्ते बदल जाते हैं​;
वक़्त ​की आंधी में इंसान बदल जाते हैं​;​
सोचते हैं तुम्हें इतनायाद न करे लेकिन​;​
आँख बंद करते ही ​ख़यालात बदल जाते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ये आरज़ू थी कि ऐसा भी कुछ हुआ होता;
मेरी कमी ने तुझे भी रुला दिया होता;
मैं लौट आती तेरे पास एकलम्हे में;
तेरे लबों ने मेरा नाम तो लिया होता!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद कर के भूलना ही न आया हमें;
किसी के दिल को सताना हीना आया हमें;
किसी के लिए तड़पना तो सीख लिया;
पर अपने लिए किसी को तड़पाना न आया हमें।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~​

मैंने कोशिश के बाद उसे भुला दिया;
​​​उसकी यादों को सीने से मिटा दिया;
​​​एक दिन फिर उसका पैगाम आया;​​​
लिखा था मुझे भूल जाओ और​;​​
मुझे हर लम्हा फिर याद दिला दिया​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ये अच्छा उसने मेरे कतल का तरीका ईजाद किया;
मर जाता मैं हिचकियो से,इतना मुझे याद किया।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~​

खयालों में ​उसके मैंने बिता दी ज़िंदगी सारी;​​​​
इबादत कर नहीं पाया खुदा! नाराज़ मत होना​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~​

याद आती है तुम्हारी तो सिहर जाता हूँ मैं​;​
देख कर साया तुम्हारा अब तो डर जाता हूँ मैं​;
​अब न पाने की तमन्ना है न है खोने का डर​;​
जाने क्यूँ अपनी ही चाहत से मुकर जाता हूँ मैं​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~​

आप से जब से हमारी यारीहो गई;
​​दुनिया और भी हमारी प्यारी हो गई;​
इस से पहले हम किसी भी चीज के आदी न थे;​​​
पर अब आप को याद करने की बीमारी हो गई।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उनकी याद में जलना अजीब लगता है​;​
धीरे-धीरे से पिघलना अजीब लगता है​;
​सारी दुनियाँ के बदलने से ​हमे फर्क नहीं ​पड़ता;
बस कुछ अपनों का बदलना अजीब लगता है​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ए दोस्त तेरी दोस्ती पे नाज करते है;
हर वक़्त मिलने की फरियाद करते है;
हमें नहीं पता घरवाले बताते है;
के हम नींद में भी आपकी बात करते है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सिर्फ देख के किसी को दिल की बात नहीं होती;
मुलाकात हो फिर भी कभी बरसात नहीं होती;
जानते है तुम कभी हमारे ना हो पाओगे;
फिर भी इस दिल में कभी रात नहीं होती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ज़िक्र अक्सर तेरा ही आता हैं हर अफ़साने में;
तुझे जान से ज्यादा चाहा हमने ज़माने में;
तन्हाई में तेरा ही सहारा मिला;
नाकाम रहे तुझे अक्सर हम भुलाने में।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरे बगैर इस जिंदगी की हमें जरुरत नहीं;
तेरे सिवा हमें किसी और की चाहत नहीं;
तुम ही रहोगे हमेशा मेरे दिल में;
किसी और को इस दिल में आने की इजाजत नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ं

किस जगह रख दूँ मैं, तेरी याद के चराग़ को
कि रौशन भी रहूँ और हथेली भी ना जले।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बताओ है कि नहीं मेरे ख्वाब झूठे;
कि जब भी देखा तुझे अपनेसाथ देखा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर बात समझाने के लिए नहीं होती;
ज़िंदगी अक्सर कुछ पानेके लिए नहीं होती;
याद अक्सर आती है आपकी;
पर हर याद जताने के लिए नहीं होती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~​

मेरी तन्हाइयां करती हैं ​जिन्हें याद सदा;
उन को भी मेरी ज़रुरत हो ज़रूरी तो नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उनसे मिलने को जो सोचों अब वो ज़माना नहीं;​​
घर भी कैसे जाऊं अब तो कोई बहाना नहीं​;​
मुझे याद रखना कहीं तुम भुला न देना;​​​
माना के बरसों से तेरी गली में ​आना-जाना नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मुझे ये डर है तेरी आरज़ूना मिट जाए;
बहुत दिनों से तबियत मेरी उदास नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

क्या अच्छा क्या बुरा क्या भला देखा;
जब भी देखा तुझे अपने रु-बरु देखा;
सोचा बहुत भूलकर भी सोचूँ ना तुझे;
जिस रात आँख लगी फिर तुझे हर सू देखा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यह मोहब्बत भी है क्या रोग फ़राज़;
जिसे भूले वो सदा याद आया।
~Ahmad Faraz
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर वक़्त तेरी यादें तड़पाती हैं मुझे;
आखिर इतना क्यों ये सताती है मुझे;
इश्क तो किया था तूने भीगर्व से;
तो यही एहसास क्यों नहीं दिलाती है तुझे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादों में हमारी वो भी कभी खोए होंगे;
खुली आँखों से कभी वो भीसोए होंगे;
माना हँसना है अदा ग़म छुपाने की;
पर हँसते-हँसते कभी वो भी रोए होंगे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर एक मजार पर उदासी छाईहै;
चाँद की रौशनी में भी कमी आई है;
अकेले अच्छे थे हम अपने आशियाने में;
जाने क्यों टूटकर आज फिर आपकी याद आई है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तन्हा हो कभी तो मुझे ढूंढ लेना;
इस दुनियां से नहीं अपने दिल से पूछ लेना;
आपके आस पास ही कहीं रहते हैं हम;
यादों से नहीं तो साथ गुज़ारे लम्हों से पूछ लेना​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

करूं न याद उसे मगर किस तरह भुलाऊं उसे;
ग़ज़ल बहाना करूं और गुनगुनाऊं उसे।
~Ahmad Faraz
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अकेला सा महसूस करो जब तन्हाई में;
याद मेरी आए जब जुदाई में;
महसूस करना तुम्हारे हीपास हूँ मैं;
जब चाहे मुझे देख लेना अपनी परछाई में।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए;
कोई रूठ जाता है मनाने के लिए;
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं;
बस दिलों में प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हमसे दूर होकर हमारे पास हो तुम;​​
हमारी सूनी ज़िंदगी की आस हो तुम;
कौन कहता है हमसे बिछड़ गए हो तुम;
हमारी यादों में हमारे साथ हो तुम।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

वो चाँद है मगर आप से प्यारा तो नहीं;
परवाने का शमा के बिन गुजारा तो नहीं;
मेरे दिल ने सुनी है एक मीठी सी आवाज़;
कहीं आपने मुझे पुकारा तो नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

​कब्र के सन्नाटे में से एक आवाज़ आयी;
किसी ने फूल रख के आंसूंकी दो बूंद बहायी;
जब तक था जिंदा तब तक ठोकर खायी;
अब सो रहा हूं तो उसको मेरी याद आयी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद आते हैं तो कुछ भी नहीं करने देते​;​अच्छे लोगों की यही बात बहुत बुरी लगती है ​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

किसी की यादों ने पागल बना रखा है;
कहीं मर ना जाऊं कफ़न सिला रखा है;
जलने से पहले दिल निकाल लेना;
कहीं वो ना जल जाए जो दिल में छुपा रखा है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

​यूँ तो ऐसा कोई ख़ास याराना नहीं है मेरा​ शराब से​;
इश्क की राहों में तन्हा मिली​ हमसफ़र बन गई....
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुझको याद करके रोता है अब दीवाना तेरा;
जो ना भूल पाएगा कभी भी ठुकराना तेरा;
तुम हमें भूल जाओ शायद ये फितरत है तेरी;
मुश्किल है हमारे लिए प्यार भुलाना तेरा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुम्हारी याद के सहारे जिए जाते है;
वरना हम तो कब के मर गए होते;
जो जख्म दिल में नासूर बन गए;
जख्म वो कब के भर गए होते।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

एक तेरी ख़ामोशी जला देती है इस पागल दिल को;
बाकी तो सब बातें अच्छी हैं तेरी तस्वीर में।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बेताब से रहते हैं उसकी याद में अक्सर;
रात भर नहीं सोते हैं उसकी याद में अक्सर;
जिस्म में दर्द का बहाना सा बना कर;
हम टूट कर रोते हैं उसकीयाद में अक्सर।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अभी-अभी वो मिला था हज़ारबातें कीं;
अभी-अभी वो गया है मगर ज़माना हुआ।
~Ahmad Faraz
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कैसे भुला दूँ उस भूलने वाले को मैं;
मौत इंसानों को आती है यादों को नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मेरी गुफ्तुगू के हर अंदाज़ को समझता है;
एक वही है जो मुझ पे एतमाद रखता है;
दूर होकर भी मुझसे वो हैइतना क़रीब;
ऐसा लगता है मेरे आस-पासरहता है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सब कुछ मिला सुकून की दौलत न मिली;
एक तुझको भूल जाने की मोहलत न मिली;
करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर;
हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत न मिली।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है;
प्यास बुझती नहीं और बरसात चली जाती है;
आप की यादें कुछ इस तरह आती हैं;
नींद आती नहीं और रात गुज़र जाती है!
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर वक़्त हम आप को याद करते हैं;
गिण-गिण के साँसे हम उधार लिया करते हैं;
आप को क्या पता मर कर भी
हम आप की याद में साँसे लिया करते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उनसे दूर जाने का इरादा ना था;
सदा साथ रहने का वादा भीना था;
वो याद नहीं करेंगे जानते थे हम;
पर इतनी जल्दी भुल जाऐंगे अंदाज़ा ना था|
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उसकी आदत पड़ गई है मुझे,जो छुड़ाए नही छुटती;
खुद धुंधला पड़ गया हूँ मैं, उसे याद करते-करते;
अब उसे न सोचू तो जिस्म टूटने सा लगता है;
एक वक़्त गुजरा है उसके नाम का नशा करते-करते।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

लू भी चलती थी तो बादे-शबा कहते थे;
पांव फैलाये अंधेरो को दिया कहते थे;
उनका अंजाम तुझे याद नही है शायद;
और भी लोग थे जो खुद को खुदा कहते थे।
~Rahat Indori
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बहुत जी चाहता है कैद​-​ए​-​जाँ से हम निकल जायें​;
​तुम्हारी याद भी लेकिन इसी मलबे में रहती है।
~MDM Nesar Kadipuri
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सारी उम्र आंखो मे एक सपना याद रहा;
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा;​​
ना जाने क्या बात थी उनमे और हममे;
​​सारी महफ़िल भूल गए बस वह चेहरा याद रहा ​।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

रेख़ती के तुम्हीं उस्ताद नहीं हो ग़ालिब​;​​​​
कहते हैं अगले ज़माने में कोई मीर भी था।
~Mir Taqi Mir
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कोई प्यार पाने की ज़िद्द में है;
शायद कोई आज़माने की ज़िद्द में है;
मुझे जिस की याद आती है इतनी शिद्दत से;
शायद वो मुझ से दूर जानेकी ज़िद्द में है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

चलो बाँट लेते हैं अपनी सजायें;
न तुम याद आओ न हम याद आयें।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरी यादों की कोई सरहद होती तो अच्छा होता;खबर तो होती कि सफ़र कितना तय करना है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जानता हूँ एक ऐसे शख्स को मैं भी 'मुनीर';
ग़म से पत्थर हो गया लेकिन कभी रोया नहीं।
~Munir Niazi
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कुछ लोग भूल कर भी भुलाये नहीं जाते;
ऐतबार इतना है कि आजमाये नहीं जाते;
हो जाते हैं दिल में इस तरह शामिल कि;
उनके ख्याल दिल से मिटाये नहीं जाते।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

एक जुर्म हुआ है हम से एक यार बना बैठे हैं;
कुछ अपना उसको समझ कर सबराज़ बता बैठे हैं;फिर उसकी प्यार की राह में दिल और जान गवा बैठे हैं;
वो याद बहुत आते हैं जो हुमको भुला बैठे हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

समंदर के सफर में इस तरहआवाज़ दे हमको;
हवाएं तेज़ हो जायें और कश्तियों में शाम हो जाये;
उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दे;
ना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाये।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कुछ नहीं बाकी बचा है तेरे जाने के बाद;
तड़प उठता है मेरा दिल आ जाये जो तेरी याद;
मायूस हो गया हूँ मैं अपनी सूनी ज़िंदगी से;
कोई तो हो जो समझे मेरे दिल के यह जज़्बात।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हमारी बेख़ुदी का हाल वो पूछें अगर;
तो कहना होश बस इतना है
कि तुम को याद करते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो;
न जाने किस गली में जिंदगी की शाम हो जाए।
~Bashir Badr
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अजीब जुल्म करती हैं
तेरी यादें मुझ पर;
सो जाऊं तो उठा देती हैं
जाग जाऊँ तो रुला देती हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ं

तेरे गम में भी नायाब खजाना ढूँढ लेते हैं,
हम तुम्हें याद करने का बहाना ढूँढ लेते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

नजरों से दूर हो कर भी, यूं तेरा रूबरू रहना,
किसी के पास रहने का, सलीका हो तो तुम सा हो।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादें भी क्या क्या करा देती हैं,
कोई शायर हो गया, कोई खामोश।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

फिर पलट रही हैं सर्दियों की सुहानी रातें,
फिर तेरी याद में जलने के जमाने आ गए।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म भरने लगते हैं;
किसी बहाने तुम्हें याद करने लगते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बंद कर दिए है हमने दरवाज़ें इश्क के,
पर तेरी याद हैं कि दरारों में से भी आ जाती हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

काश! तेरी यादो की कोई सरहद होती,
पता तो चलता अभी कितना सफर और तय करना है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरी याद से शुरू होती है मेरी हर सुबह,
फिर ये कैसे कह दूँ कि मेरा दिन खराब है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सिसकियाँ लेता है वजूद मेरा गालिब,नोंच नोंच कर खा गई तेरीयाद मुझे।
~Mirza Ghalib
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बैठे थे अपनी मस्ती में कि अचानक तड़प उठे,
आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आज हम हैं कल हमारी यादें होंगी,
जब हम ना होंगे तब हमारी बातें होंगी,
कभी पलटोगे ज़िन्दगी के यह पन्ने,
तब शायद आपकी आँखों से भी बरसातें होंगी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ग़रज़ कि काट दिए ज़िंदगी के दिन ऐ दोस्त,
वो तेरी याद में हों या तुझे भुलाने में।
~Firaq Gorakhpuri
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की,
लम्हें तो अपने आप मिल जाते हैं;
कौन पूछता है पिंजरे में बंद परिंदों को,
याद वही आते हैं जो उड़ जाते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सुना है कि तुम रातों को देर तक जागते हो,
यादों के मारे हो या मोहब्बत मे हारे हो।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो;
ना जाने कसी गली में ज़िन्दगी की शाम हो।
Altaf Raza
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अजीब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ पर;
सो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आज मुस्कुराने की हिम्मत नहीं मुझ में,
आज टूट कर मुझे उसकी याद आ रही है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जब जब तेरी यादों का रमज़ान आता हैं,
मेरी आँखें नींद के रोज़े रखती है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मत पूछो कि मै अल्फाज कहाँ से लाता हूँ,
ये उसकी यादों का खजाना है,
बस लुटाये जा रहा हूँ।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आज ये पल है, कल बस यादें होंगी;
जब ये पल ना होंगे, तब सिर्फ बातें होंगी;
जब पलटोगे जिंदगी के पन्नों को;
तो कुछ पन्नों पर आँखें नम
और कुछ पर मुस्कुराहटें होंगी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कितनी अजीब है मेरे अन्दर की तन्हाई भी,
हजारो अपने है मगर याद सिर्फ वो ही आता है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

समझा दो तुम अपनी यादों को ज़रा,
दिन रात तंग करती हैं मुझे कर्ज़दार की तरह।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर रात रो-रो के उसे भुलाने लगे,
आंसुओं में उस के प्यार को बहाने लगे,
ये दिल भी कितना अजीब है कि,
रोये हम तो वो और भी याद आने लगे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अजीब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ पर,
सो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादें अगर आँसू होती तो चली जाती,
यादें अगर लिखावट होती तो मिट जाती,
यादें ज़िंदगी में बसा वो लम्हा हैं,
जो लाख कोशिशों के बाद भी लफ़्ज़ों में नहीं सिमट पाती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बहुत अजब होती हैं यादें यह मोहब्बत की,
रोये थे जिन पलों में याद कर उन्हें हँसी आती ह
हँसी थे जिन पलों में अब याद कर उन्हें रोना आता है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म भरने लगते हैं,
किसी बहाने तुम्हें याद करने लगते हैं।
~Faiz Ahmad Faiz
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जब भी तन्हाई में उनके बगैर जीने की बात आयी,
उनसे हुई हर एक मुलाकात मेरी यादों में दौड आई।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जब भी तेरी यादों को आस-पास पाता हूँ ,
खुद को हद दर्ज़े तक उदास पाता हूँ ,
तुझे तो मिल गई खुशियाँ ज़माने भर की ,
मै अब भी दिल में वही प्यास पाता हूँ |
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादें आँसू होती तो छलक जाती ,
यादें लिखावट होती तो मिट जाती ,
यादें तो जिंदगी में बसा वो एहसास हैं.,
जो लाख कोशिश के बाद भी लफ़्ज़ों में बयान नहीं होती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यकीन करो आज इस कदर याद आ रहे हो तुम ,
जिस कदर तुम ने भुला रखा है मुझे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

प्यार करते हैं तुमसे कितना दिखा ना सके ,
तुम क्या हो हमारे लिए कभी बता ना सक ,े
तुम साथ नहीं हो फिर भी,
तुम्हारी याद को कभी हम भुला ना सके।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

सारा दिन गुजर जाता है खुद को समेटने में ,
फिर रात को उसकी यादों की हवा चलती है
और हम फिर बिखर जाते हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दुनिया के ज़ोर प्यार के दिन याद आ गय,े
दो बाज़ुओ की हार के दिन याद आ गये,
गुज़रे वो जिस तरफ से बज़ाए महक उठी ,
सबको भरी बहार के दिन याद आ गये।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरी यादें भी न मेरे बचपन के खिलौने जैसी हैं ,
तन्हा होता हूँ तो इन्हें लेकर बैठ जाता हूँ।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अभी मशरूफ हूँ काफी कभी फुर्सत में सोचूंगा ,
कि तुझको याद रखने में मैं क्या - क्या भूल जाता हूँ।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यह याद है आपकी या यादों में आप हो ,
यह ख्वाब है आपके या ख्वाबों में आप हो ,
हम नहीं जानते बस इतना बता दो ,
हम जान है आपकी या जान हमारी आप हो?
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अब सोचते हैं लाएँगे तुझ सा कहाँ से हम ,
उठने को उठ तो आए तेरे आस्ताँ से हम।
Majrooh Sultanpuri
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

समंदर के सफर में इस तरहआवाज़ दो हमको ,
हवाएं तेज़ हो जायें और कश्तियों में शाम हो जाये |
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बन कर अजनबी मिले थे ज़िंदगी के सफ़र में ,
इन यादों के लम्हों को मिटायेंगे नहीं ,
अगर याद रखना फितरत है आपकी ,
तो वादा है हम भी आपको भुलायेंगे नहीं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी ,
किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गय ,
महकती फ़िज़ा की खुशबू में जो देखा प्यार क
बस याद उनकी आई और रुलाती चली गयी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद रूकती नहीं रोक पाने से ,
दिल मानता नहीं किसी के समझाने से ,
रुक जाती हैं धड़कनें आपको भूल जाने से,
इसलिए आपको याद करते हैं जीने के बहाने से।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यकीन अपनी चाहत का इतना है मुझे,
मेरी आँखों में देखोगे और लौट आओगे,
मेरी यादों के समंदर में जो डूब गए तुम,
कहीं जाना भी चाहोगे तो जा नहीं पाओगे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

यादों में आपके तनहा बैठे हैं,
आप के बिना लबो की हँसी गवा बैठे हैं,
आपकी दुनिया में अँधेराना हो,
इसलिए खुद का दिल जला बैठे हैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली ,
कुछ यादें मेरे संग पाँव पाँव चली ,
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ ,
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

नया कुछ भी नहीं हमदम, वही आलम पुराना है ,
तुम्हीं को भुलाने की कोशिशें,
तुम्हीं को याद आना है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

दिल की चोटों ने कभी चैनसे रहने न दिया ,
जब चली सर्द हवा मैंने तुझे याद किया।
~Josh Malihabadi
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया हमने ,
प्यार का हर फ़र्ज़ अदा किया हमन ,े
मत सोच कि हम भूल गए हैं तुझे ,
आज भी खुदा से पहले तुझेयाद किया हमने।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

साँस लेने से भी तेरी याद आती है ,
हर साँस में तेरी खुशबू बस जाती है ,
कैसे कहूँ कि साँस से मैं ज़िंदा हूँ ,
जब कि साँस से पहले तेरीयाद आती है।
ww.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ये जो चंद फुर्सत के लम्हे मिलते हैं जीने के लि
मैं उन्हें भी तुम्हे सोचते हुए ही खर्च कर देता हूँ।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गय ,
किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी ,
महकती फ़िज़ा की खुशबू में जो देखा प्यार क ,
बस याद उनकी आई और रुलाती चली गयी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तुम्हारी यादों में मेरा अक्स झिलमिलाता होग ,;तुम्हारी बातों में मेरा ज़िक्र भी आता होगा ,
लाख मशरूफ रहो तुम कहीं भी लेकिन ,
अक्सर मेरा ख्याल तुम्हें भी सताता होगा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

उसे जब याद आएगा वो पहलीबार का मिलना ,
तो पल पल याद रखेगा या सब कुछ भूल जायेगा ,
उसे जब याद आएगा गुज़रे मौसम का हर लम्हा ,
तो खुद ही रो पड़ेगा या खुद ही मुस्कुराएगा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

ख्याल में आता है जब भी उसका चेहरा,
तो लबों पे अक्सर फरियाद आती है
भूल जाता हूँ सारे गम और सितम उसक ,
जब भी उसकी थोड़ी सी मोहब्बत याद आती है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हिचकियों को न भेजो अपना मुखबिर बना क े,
हमें और भी काम हैं तुम्हें याद करने के सिवा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

इश्क़ पाने की तमन्ना में कभी कभी ज़िंदगी खिलौना बन कर रह जाती है ,
जिसके दिल में achhiblog hota hai !
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

तू नहीं तो ज़िंदगी में और क्या रह जायेगा,
दूर तक तन्हाइयों का सिलसिला रह जायेगा ,
आँखें ताज़ा मंज़रों में खो तो जायेंगी मगर ,
दिल पुराने मौसमों को ढूंढ़ता रह जायेगा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

अजनबी शहर के अजनबी रास्ते,
मेरी तन्हाई पर मुस्कुराते रह,े
मैं बहुत दूर तक यूँ ही चलता रहा,
तुम बहुत देर तक याद आते रहे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जुदा होकर भी सताने से बाज़ नहीं आत
दूर रह कर भी वो दिल जलाने से बाज़ नहीं आत
हम तो भूलना चाहते हैं हर एक याद उनकी ,
मगर वो ख्वाबों में आने से भी बाज़ नहीं आते।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर वक़्त तेरी यादें तडपाती हैं मुझे ,
आखिर इतना क्यों ये सताती हैं मुझे ,
इश्क तो किया था तुमने भी शौंक स ,
तो क्यों नहीं यह एहसास दिलाती हैं तुझे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बिछड़ी हुई राहों से जो गुज़रे हम कभी ,
हर ग़म पर खोयी हुई एक याद मिल गयी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

किसी की यादों को रोक पाना मुश्किल है ,
रोते हुए दिल को मनाना मुश्किल है ,
ये दिल अपनों को कितना याद करता है ,
ये कुछ लफ़्ज़ों में बयां कर पाना मुश्किल है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

बड़ी तब्दीलियां लायें हैं हम अपने आप में ,
पर तुम्हारी याद में रहने की आदत अब भी बाकी है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मोहब्बत की हवा जिस्म की दवा बन गयी ,
दूरी आपकी मेरी चाहत की सज़ा बन गयी ,
कैसे भूलूँ आपको एक पल के लिए भी ,
आपकी याद हमारे जीने की वजह बन गयी।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

कोई मलाल कोई आरजू नहीं करता ,
तुम्हारे बाद यह दिल गुफ्तगू नहीं करता ,
कोई न कोई चीज़ मेरी टूट जाती है ,
तुम्हारी याद से जब भी वज़ू नहीं करता।
अनुवाद:वज़ू = पवित्र~Syed Wasis shah
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हर रात रो-रो के उसे भुलाने लगे;
आंसुओं में उस के प्यार को बहाने लगे;
ये दिल भी कितना अजीब हैकि;
रोये हम तो वो और भी याद आने लगे।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~े


तुमसे दूरी का एहसास जब सताने लगा;
तेरे साथ गुज़ारा हर लम्हा याद आने लगा;
जब भी कोशिश की तुम्हें भुलाने की;
तू और भी इस दिल के करीब आने लगा।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ं

बिछड़ी हुई राहों से जो गुज़रे हम कभी;
हर ग़म पर खोयी हुई एक याद मिली है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

याद रूकती नहीं रोक पाने से;
दिल मानता नहीं किसी के समझाने से;
रुक जाती हैं धड़कनें आपके भूल जाने से;
इसलिए आपको याद करते हैं जीने के बहाने से।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

जीना चाहते हैं मगर ज़िन्दगी रास नहीं आती;
मरना चाहते हैं मगर मौत पास नहीं आती;
बहुत उदास हैं हम इस ज़िन्दगी से;
उनकी यादें भी तो तड़पाने से बाज़ नहीं आती।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली;
कुछ यादें मेरे संग पांव पांव चली;
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ;
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

चाँद के बिना अँधेरी रात रह जाती है;
साथ कुछ हसीन मुलाकात रह जाती है,
सच है जिंदगी कभी रूकती नहीं;
बस वक़्त निकल जाता है औरयाद रह जाती है।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

फूल शबनम में डूब जाते हैं;
जख्म मरहम में डूब जाते हैं;
जब आती है कभी याद तेरी;
हम तेरे गम में डूब जातेहैं।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

मालूम नहीं मंज़िल खुद मुझे अपनी;
कदम रुक जायेंगे खुद, सफर जहाँ खत्म होगा;
तुम्हें याद न करूँ ऐसा पल न कभी आये;
भूल जाऊं जिस दिन मैं तुम्हें,
वो दिन आखिरी हो जाये।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~

आज तेरी याद सीने से लगाकर हम रोये;
तन्हाई में तुझे पास बुला कर हम रोये;
कई बार पुकारा इस दिल नेतुम्हें;
हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये।
www.achhiblog.blogspot.in
~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~ ~°~